Saturday, 20 October 2018

two line shayari hindi

1.
खुदा करे वो मोहब्बत जो तेरे नाम से है,
हजार साल गुजरने पे भी जवान ही रहे।

2
ईश्क की गहराईयो में खूब सूरत क्या है,
मैं हूं , तुम हो, और कुछ की जरूरत क्या है!

hindi two line shayari

3.
टपकती है निगाहों से बरसती है अदाओं से,
मोहब्बत कौन कहता है कि पहचानी नहीं जाती।

4.
एक ना एक दिन कहीं ढून्ढ ही लूंगा तुझ को
ठोकरें ज़हर तो नहीं , के मैं खा ना सकू

5.
जरा छू लूँ तुमको कि मुझको यकीं आ जाये,
लोग कहते हैं मुझे साये से मोहब्बत है।

6.
ज़्यादा कुछ नही बस तेरा साथ चाहिए !
जमाने को जलाने के लिए बस इतना ही काफ़ी है !!

7.
आ कि तुझ बिन इस तरह ऐ दोस्त घबराता हूँ मैं
जैसे हर शय में किसी शय की कमी पाता हूँ मैं


8.
सौ बार मरना चाहा उनकी निगाहों में डूब के,
वो हर बार निगाहें झुका लेते हैं, मरने भी नहीं देते हैं।

9.
तुझसे दूर जाने का कोई इरादा न था
पर रुकते आखिर कैसे जब तू ही हमारा ना था

10
बेशक तुम्हें गुस्सा करने का हक है मुझ पर
पर नाराजगी में कहीं ये मत भूल जाना की हम बहुत प्यार करते हैं तुमसे.

11
मुहब्बत साथ हो जरूरी नहीं..
पर मुहब्बत जिन्दगी भर हो ये बहुत जरूरी है…

12
तुम्हें एहसास ही नही कितना इश्क़ है तुमसे
बस रोज थोड़ा और तुमसे जुड़ते जाते हैं हम.


13
निगाह ए इश्क़ का अजीब ही शौक देखा
तुम ही को देखा और बेपनाह देखा

14
इन आँखों को जब तेरा दीदार हो जाता है
दिन कोई भी हो मेरा त्यौहार हो जाता है.

No comments: